नौटंकी ख्यालों को पेशेवर बनाने का श्रेय किसे प्राप्त है?

नौटंकी ख्यालों को पेशेवर बनाने का श्रेय किसे प्राप्त है? (1) नत्थाराम को (2) मुरलीधर हरनारायण को (3) भर्रिलाल को (4) चाचा बोहरा को

निम्न में से कौन कुचामण ख्याल शैली के नारी पात्रों के भूमिका के लिए ख्यातनाम थे? |

निम्न में से कौन कुचामण ख्याल शैली के नारी पात्रों के भूमिका के लिए ख्यातनाम थे? | (1) उगमराजजी (2) लच्छीरामजी (3) दूलिया राणाजी (4) कन्हैयालालजी

‘कन्हैया ख्याल’ नामक लोकनाट्य (संगीत दंगल) किस क्षेत्र की अनुपम विशेषता है?

‘कन्हैया ख्याल’ नामक लोकनाट्य (संगीत दंगल) किस क्षेत्र की अनुपम विशेषता है? (1) करौली, अलवर, भरतपुर (2) अलवर, धौलपुर (3) भरतपुर, स. माधोपुर, जयपुर (4) करौली, श्री महावीरजी, भरतपुर

फतेहपुर निवासी प्रहलादीराम झालीराम पुरोहित ने किस  ख्याल की प्रतिष्ठा की?

फतेहपुर निवासी प्रहलादीराम झालीराम पुरोहित ने किस  ख्याल की प्रतिष्ठा की? (1) जयपुरी ख्याल (2) कुचामणी ख्याल (3) किशनगढ़ी ख्याल (4) शेखावाटी ख्याल

अमर सिंह राठौड़ का ख्याल’ की रचना कब,कहाँ किसने

अमर सिंह राठौड़ का ख्याल’ की रचना कब,कहाँव किसने (1) 1904 में बीकानेर में जवाहर लाल ने।  (2) 1911 में इंदौर में मोतीलाल सेन (बीकानेर) ने। (3) 1899 में जैसलमेर में राधेश्याम जोशी ने। (4) उक्त कोई नहीं।

नानूलाल राणा व दुलाणा राणा किस क्षेत्र की ख्याल लोकनाट्य शैली के प्रसिद्ध कलाकार रहे हैं?

नानूलाल राणा व दुलाणा राणा किस क्षेत्र की ख्याल लोकनाट्य शैली के प्रसिद्ध कलाकार रहे हैं? (1) बीकानेर (2) चिड़ावा (3) कोलायत (4) चंदेरी