रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य । Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary

 Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary

रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य (Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary) बूँदी के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है। रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य (Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary)  बूँदी-नैनवा मार्ग पर बूँदी से 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।  यह अभ्‍यारण्‍य मुख्य रूप से पहाड़ी और शुष्क पर्णपाती जंगलों से भरा है। जिसमे जंगली चिंकारा, जंगली सूअर, तेंदुआ, सांभर, भारतीय भेड़िया, सियार, लोमड़ी, हायना और स्लोथ भालू और बिभिन्न जानवरों की एक विशाल विविधता पाई जाती है जो पर्यटकों के लिए आकर्षण के केंद्र बने हुए है।

 रामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य (Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary) देश का 52 वा  और राजस्थान का चौथा बाघ सरक्षण क्षेत्र है।  राजस्थान में इससे पहले सरिस्का , रणथम्भोर  और मुकंदरा हिल्स बाघ सरक्षण क्षेत्र रहे है।  हाल ने राष्ट्रीय  बाघ सरक्षण प्राधिकरण से रामगढ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य को हरी झंडी दी है।  कुल 1071  वर्ग किमी का क्षेत्र टाइगर रिजर्व के रूप में चयनित किया गया है जिसमे बूंदी, भीलवाड़ा और इंद्रगढ़ का जॅंगल शामिल है। 

 आजादी  से  पहलेरामगढ़ विषधारी वन्यजीव अभयारण्य (Ramgarh Vishdhari Wildlife Sanctuary) बूंदी राज्य के अधीन  था तथा बूंदी के शासको के लिए शिकारगृह के रूप में प्रयोग लाया जाता है।  सन 1982 में इसे वन्यजीव अभयारण्य  का दर्जा दिया गया था।  तब इस अभयारण्य  का कुल क्षेत्रफल 252  वर्ग किमी था। और यह  रणथम्भोर वन्यजीव अभयारण्य के बफर जोन के रूप में चिन्हित था.

Leave a Comment

Your email address will not be published.